बहुमत के साथ प्रदेश में दोबारा सरकार बनाएगी भाजपा : त्रिवेंद्र रावत

सोशल मीडिया व पोस्टर बैनर तक सीमित है आम आदमी पार्टी

हरिद्वार। पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि 2022 के विधानसभा चुनाव में प्रदेश की जनता का आशीर्वाद भाजपा को मिलेगा। प्रदेश में सत्ता परिवर्तन का मिथक टूटेगा तथा भाजपा प्रचंड बहुमत के साथ दोबारा सत्ता में आएगी। आम आदमी का उत्तराखंड में कोई अस्तित्व नही है।

कनखल स्थित जगद्गुरू आश्रम में स्वामी राजराजेश्वराश्रम से आशीर्वाद लेने आए पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मीडिया से बातचीत में कहा कि 2022 में पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने है। उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, गोवा, पंजाब और मणिपुर में होने वाले चुनावों के दृष्टिगत अखिल भारतीय स्तर पर भाजपा और भाजपा की सभी प्रदेश ईकाइयां तैयारियां कर रही हैं। उत्तराखण्ड में भी चुनाव की तैयारियां की जा रही हैं। 2022 का चुनाव राज्य की परंपरा और इतिहास को बदलेगा।

जनता भाजपा को दूसरी बार मौका देगी। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी का उत्तराखंड में कोई अस्तित्व नही है। आम आदमी पोस्टर बैनर व सोशल मीडिया तक ही सीमित है। आप केवल वायदे करती है लेकिन चुनावी वायदों को धरातल पर उतारने में नाकाम रहती है। उत्तराखंड के लोग राष्ट्रीय विचारधारा के लोग है। राष्ट्रीय सोच रखते हुए राष्ट्रीय दलों के साथ रहते है। राष्ट्रीय विचारधारा वाली पार्टी को ही जनता अपना समर्थन देगी। त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि वे पार्टी के अनुशासित सिपाही हैं। पार्टी जो निर्देश देगी उसका पालन किया जाएगा। तीन-तीन मुख्यमंत्री बदलने के सवाल पर उन्होंने कहा कि पार्टी ने राज्य हित में निर्णय लिया है।

त्रिवेंद्र ने की 4 साल के कार्यकाल में प्रदेश की उन्नति : राजराजेश्वराश्रम

हरिद्वार। पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कनखल स्थित जगद्गुरु आश्रम में पहुंचकर जगद्गुरु शंकराचार्य राजराजेश्वराश्रम महाराज से आशीर्वाद लिया। इस दौरान राष्ट्र धर्म और संस्कृति को लेकर भी चर्चा की गई। जगद्गुरु शंकराचार्य ने उन्हें लक्ष्य में सफल होने का आशीर्वाद दिया। जगद्गुरु शंकराचार्य राजराजेश्वराश्रम महाराज ने कहा कि त्रिवेंद्र सिंह रावत केवल उनसे आशीर्वाद लेने आए थे। कहा कि त्रिवेंद्र सिंह रावत का प्रदेश की उन्नति के लिए चार साल का कार्यकाल बीता है।

जो भी तक किसी भी मुख्यमंत्री का व्यतीत नहीं हुआ है। उन्होंने भ्रष्टाचार मुक्त उत्तराखंड बनाने का संकल्प पूरा किया। कहा कि त्रिवेंद्र अपने लक्ष्य में सफल होंगे। भगवान से प्रर्थना है कि चुनाव में उन्हें विजय मिले। त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि चातुर्मास चल रहा है, जिसका सन्यास परंपरा में विशेष महत्व होता है। काफी समय से वह हरिद्वार नहीं आए थे। इसलिए अब वह जगद्गुरु शंकराचार्य राजराजेश्वराश्रम महाराज से आशीर्वाद लेने आए थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.