बैंक ऑफ़ बड़ौदा ने वित्त-वर्ष 2022 की पहली तिमाही के लिए अपने वित्तीय परिणामों की घोषणा की

देहरादून : बैंक ने ब्याज से प्राप्त निवल आय (एनआईआई) में साल-दर-साल के आधार पर 15.8% की जबरदस्त वृद्धि दर्ज की, जो Rs 7,892 crore तक पहुंच गया और इसी के सहारे बैंक ने Rs 1,209 crore का निवल लाभ दर्ज किया। इसके परिणामस्वरूप, RoA में 0.42% और RoE में 8.63% की उल्लेखनीय वृद्धि हुई है।

41.2% की शानदार बढ़ोतरी के साथ परिचालन लाभ Rs 5,707 crore तक पहुंच गया। पिछले वर्ष की तुलना में 574 bps की गिरावट के साथ आय व लागत का अनुपात घटकर 47.45% हो गया। सकल NPA की स्थिति सुधरकर 8.86% हो गई, जो पिछले साल की इसी अवधि में 9.39% थी।

बैंक का पूंजी पर्याप्तता अनुपात (CRAR) बढ़कर 15.4% हो गया। 3% की वृद्धि के साथ वैश्विक निवल ब्याज मार्जिन (NIM) 3.04% तक पहुंच गया। घरेलू NIM 3.12% दर्ज किया गया। बैंक ने अपने लोन-बुक को अधिक लाभ वाले क्षेत्रों के लिए पुनर्व्यवस्थित किया। ऑर्गेनिक रिटेल लोन में साल-दर-साल के आधार पर 11.8% की वृद्धि हुई।

रिटेल लोन के अंतर्गत, ऑटो लोन में साल-दर-साल के आधार पर 25.0% की वृद्धि दर्ज की गई, जबकि पर्सनल लोन में साल-दर-साल के आधार पर 19.5% की बढ़ोतरी हुई। गोल्ड लोन में साल-दर-साल के आधार पर 37.7% की वृद्धि हुई। बैंक ने डिपॉजिट की अपनी लागत को 103 bps घटाकर 3.92% कर दिया।

CASA डिपॉजिट में साल-दर-साल के आधार पर 12.7% की वृद्धि हुई, तथा घरेलू CASA अनुपात पिछले साल के 39.49% से बढ़कर 43.21% हो गया, और इस तरह साल-दर-साल के आधार पर 372 bps की वृद्धि दर्ज की गई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.