पंचायती अखाड़ा निरंजनी में गरीब जरूरतमंदों के लिए अन्नपूर्णा रसोई का शुभारंभ

गरीब जरूरतमंदों की सेवा ही सबसे बड़ा पुण्य : श्रीमहंत रविंद्रपुरी

मानवता के सच्चे संरक्षक है श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज : मदन कौशिक

हरिद्वार। कोरोना काल में निरंतर जरूरतमंदों की सेवा में जुटे मां मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष एवं पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के सचिव श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने गरीब और जरूरतमंद लोगों के लिए अन्नपूर्णा रसोई का शुभारंभ किया है। निरंजनी अखाड़ा स्थित चरण पादुका मंदिर परिसर में श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने अन्नपूर्णा रसोई का शुभारंभ किया।

इस दौरान श्रीमहत रविन्द्रपुरी महाराज ने कहा कि कोरोना काल में किसी भी गरीब जरूरतमंद को भूखा नहीं सोने दिया जाएगा। अन्नपूर्णा रसोई के माध्यम से प्रतिदिन दोनो समय गरीब जरूरतमंदों को भोजन वितरण किया जाएगा। प्रतिदिन पूरी सब्जी व दाल चावल के एक हजार पैकेट वितरित किए जाएंगे। गरीब जरूरतमंदों की सेवा सबसे बड़ा पुण्य कार्य है।

लॉकडाउन खुलने तक भोजन वितरण सेवा निरंतर जारी रहेगी। श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने कहा कि जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराने के साथ कोरोना महामारी से निपटने के लिए सरकार भी हरसंभव मदद को वे तत्पर हैं। उन्होंने समस्त समाज से भी असहाय और जरूरतमंदों की मदद करने की अपील भी की। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज मानवता के सच्चे संरक्षक है। आपदा काल में उन्होंने हमेशा बढ़-चढक़र मानवता की सेवा की है।

कोरोना महामारी शुरू होने पर पिछले साल लॉकडाउन के दौरान उन्होंने लाखों लोगों को भोजन व कच्चा राशन उपलब्ध कराया। लॉकडाउन के चलते हरिद्वार में फंसे लाखों तीर्थयात्रियों की भी उन्होंने पूरे सेवाभाव से मदद की। इसके अलावा महामारी से निपटने के लिए राज्य और केंद्र सरकार को आर्थिक मदद दी।

कोरोना महामारी के दूसरे चरण में ऑक्सीजन की बढ़ती जरूरत को पूरा करने के लिए हाल ही में उन्होंने 50 लाख का चेक मुख्यमंत्री को सौंपा है। इसके अलावा उनकी और से गरीब जरूरतमंदों की सेवा के लिए दो एम्बुलेंस भी शीघ्र उपलब्ध करायी जाएंगी। गरीब, जरूरतंदों की सेवा के लिए भोजन सेवा शुरू कर उन्होंने एक बार फिर सराहनीय कार्य किया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.