11 साल की बच्ची के रेप मर्डर केस में छिपे हैं कई राज : डा. काला

पुलिस पर अपराधियों को संरक्षण देने का आरोप

देहरादून। आम आदमी पार्टी की प्रदेश प्रवक्ता डॉक्टर राकेश काला ने हरिद्वार में 11 साल की बच्ची के साथ हुई हैवानियत और उसके बाद उसकी हत्या को लेकर पुलिस पर जमकर निशाना साधा। डॉक्टर राकेश काला ने आरोप लगाए कि, एक मासूम के साथ इतनी बडी हैवानियत होने के बाद भी पुलिस ने अपनी गंभीरता नहीं दिखाई और साथ ही पुलिस पर अपराधियों को संरक्षण देने का आरोप भी लगाया।

उन्होंने कहा कि हरिद्वार में जो इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली घटना घटित हुई, उसके बावजूद भी कौशिक महज खानापूर्ति कर रहे हैं। उन्होंने कहा उनके विधानसभा में हुई इस बर्बरता पूर्व हुई अमानवीय घटना से पूरा हरिद्वार स्तब्ध है और आरोपी अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। जबकि ये उन्हीं की विधानसभा का मामला है।

यहां आयोजित एक प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि जहां महज पक्ष और विपक्ष खानापूर्ति करते हैं, लेकिन उन्हें उस मासूम के दर्द का कोई एहसास नहीं है, जो दरिंदगी का शिकार हुई और उस मासूम की बेरहमी से हत्या तक कर दी गई और जब घरवाले बच्ची को ढूंढते हुए वारदात वाले घर में पहुंचते हैं तो, आरोपी कहता है कि ये बच्ची की लाश नहीं बल्कि एक डमी है।आप प्रवक्ता ने कहा, आज उत्तराखंड में दहशत का माहौल पैदा हो गया है। बहन बेटियां आज घरों में भी सुरक्षित नहीं रह गई हैं।

लॉ एंड ऑर्डर आज पूरी तरह से फेल हो गया है। पीडित पक्ष ने राजीव नाम के शख्स पर आरोप भी लगाए, लेकिन पुलिस ने उसके बावजूद भी उसे गिरफ्तार नहीं किया। जबकि बच्ची की लाश मिलने से पहले कुछ देर तक वो पुलिस के साथ दिखाई दिया। उसके बाद उसके अचानक गायब होने पर और अब तक गिरफ्तारी ना होने पर सवालिया निशाने खड़ा किया कि आखिरकार किसकी शह पर आरोपी अब तक गिरफ्तार नहीं हो पा रहा है। क्या किसी बडे नेता का सरंक्षण आरोपी को है आखिर पुलिस किसके दवाब में काम कर रही है।

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि आखिर कब तक मां बहनों की आबरु से देवभूमि में खिलवाड देखती रहेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में लगातार इस तरह महिलाओं और बच्चियों पर दुष्कर्म और मर्डर की घटनाएं तेजी से बढ रही हैं, उसके लिए लाचार कानून व्यवस्था जिम्मेदार है। इनकी लापरवाही के चलते आरोपी लगातार इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं, लेकिन चवसपबम उसके बावजूद भी हाथ पर हाथ धरी बैठी है।

दुष्कर्म और मर्डर के बाद, उसके शरीर को तोड मरोडकर कपडों की आलमारी में रखा गया था। उन्होंने इस घटना को भयावह बताते हुए कहा कि, अब पुलिस से लोगों का विश्वास उठ चुका हैऔर अब अपने बच्चों की देखभाल और सुरक्षा की उम्मीद पुलिस से नहीं है।

उन्होंने कहा कि आप पार्टी मासूम की आत्मा शांति के लिए आज कैंडल मार्च भी निकालेगी ताकि सरकार और प्रशासन में सोए अधिकारियों की नींद टूटे और उन अपराधियों पर शिकंजा कस सके जो पुलिस के सामने होने के बावजूद भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाए। आप पार्टी आगाह कर रही है कि अगर जल्द ही इस मामले में अपराधी नहीं पकडे गए तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने को तैयार रहे।

आप देवभूमि में अपराधियों को संरक्षण और महिलाओं और मासूमों के साथ किसी भी तरह के अत्याचार को कतई बर्दाश्त नहीं करेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.