सिख गार्ड की गिरफ्तारी पर कोलकाता पुलिस के खिलाफ शिकायत दर्ज कराएगी DSGMC

[ad_1]

नई दिल्ली : पश्चिम बंगाल में पिछले हफ्ते हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान एक भाजपा नेता के सिख सुरक्षा गार्ड की पगड़ी उतारे जाने और उसकी गिरफ्तारी के मामले में दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीएमसी) ने कहा है कि वह अज्ञात पुलिसकर्मियों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराएगा।

डीएसजीएमसी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने मीडिया को बताया कि वह 2 डीएसजीएमसी सदस्यों के साथ हावड़ा पुलिस स्टेशन जाकर पुलिसकर्मियों के खिलाफ औपचारिक शिकायत दर्ज कराएंगे।

डीएसजीएमसी के 3 सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल रविवार को सिख सुरक्षा गार्ड बलविंदर सिंह की गिरफ्तारी के मामले में अपनी शिकायत दर्ज कराने कोलकाता आया था।

प्रतिनिधिमंडल पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मिलने की भी योजना बना रहा है, ताकि उनसे बलविंदर सिंह की पगड़ी उतारकर सिखों की धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाले दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने का अनुरोध किया जाए।

सिरसा ने कहा, हम बलविंदर सिंह की पगड़ी उतारने वाले पुलिसकर्मियों की पहचान करने और उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करेंगे। हम राज्य सरकार के अधिकारियों से मिलने की कोशिश कर रहे हैं, ताकि उनसे आग्रह किया जाए कि वे पुलिस और दोषियों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करें।

सिरसा के नेतृत्व वाले कोलकाता पहुंचे इस प्रतिनिधिमंडल ने रविवार को पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात कर बलविंदर सिंह की तत्काल रिहाई करने और दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी।

बता दें कि इस मामले की एक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी। यह घटना 8 अक्टूबर को भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा द्वारा सचिवालय नबान्न के लिए निकाले गए विरोध मार्च के दौरान की है।

इस मामले की भाजपा नेताओं समेत कई लोगों ने कड़ी निंदा की है। खबरों के मुताबिक, सिंह के पास से 9 एमएम की एक पिस्तौल बरामद की गई है, जिसका लाइसेंस अगले साल की जनवरी तक वैध है।

[ad_2]

Leave A Reply

Your email address will not be published.