दो वर्षों तक बाधित रही गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में तीन दिन में पहुंचे 35 हजार श्रद्धालु

उत्तरकाशी। वैश्विक महामारी कोविड -19 के चलते दो वर्षों तक बाधित रही चारधाम यात्रा जोर पकड़ने लगी है। कपाट उद्घाटन के बाद तीन दिन के अंतराल में 30 हजार से अधिक श्रद्धालु गंगोत्री एवं यमुनोत्री धाम के दर्शनों को पहुंचे है। जिस पर पर्यटन कारोबारियों एवं होटल व्यवसायियों ने खुशी जाहिर की है।

अक्षय तृतीय के पर्व पर गत 03 मई को गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के बाद प्रदेश में चारधाम यात्रा का विधिवत शुरू हो गई थी। वहीं शुक्रवार को बाबा केदारनाथ धाम के कपाट भी विधिवत रूप से श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए गए हैं। जिसके बाद चारधाम यात्रियों में अब खासा उत्साह दिखाई दे रहा है।

गंगोत्री व यमुनोत्री धाम की यात्रा को शुरू हुए अभी तीन दिन का समय ही हुआ है। लेकिन उसके बाद भी दोनो धामों में अब तक कुल 37,250 से अधिक यात्री मां गंगा व यमुना के दर्शन कर चुके हैं।

यहां गत बुधवार देर सांय तक गंगोत्री धाम में 18302 तथा यमुनोत्री धाम में 18948 तीर्थयात्री मां गंगा व यमुनो के दर्शनों के भागी बने हैं। दोनों धामों में तीर्थ यात्रियों की बड़ी तदाद पर पहुंचने से होटल व्यवसायियों के चहरे खिल उठे हैं।

होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष शैलेन्द्र मटूड़ा व गंगोत्री मंदिर समिति के सचिव सुरेश सेमवाल ने बताया यात्रा को लेकर तीर्थ यात्री उत्साहित हैं। कोरोनो को मात देने के बाद अधिकांश् तीर्थ यात्री धामों के दर्शनों को पहुंच रहे हैं। कहा कि यदि सबकुछ ठीक ठाक रहा तो रिकार्ड तोड़ यात्री इस वर्ष गंगोत्री व यमुनोत्री के दर्शनों को पहुंचेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.